VIDEO: मो’हम्मद सिराज ने मां के साथ मनाया जन्मदिन, पिता को किया याद, बोले- अल्हम्दुलिलाह..

उन लोगों की कहानी वाकई दिल को छू जाती है, जो जमीन से उठकर आसमान तक का सफर पूरा करते हैं। कुछ ऐसी ही कहानी हैं भारतीय टीम यंग बॉलर मो’हम्मद सिराज (Mohammed Siraj) की। ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान पिता को खोने के बाद भी इस खिलाड़ी ने जिस तरह से पूरी सीरीज में प्रदर्शन दिखाया वो काबिल-ए-तारीफ था। इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में भी उन्होंने अपना लो’हा मनवाया। भारतीय टीम के ये यं’ग और टैलेंटेड खिलाड़ी 13 मार्च को अपना 27वां जन्मदिन मना रहे हैं। बता दें कि आईपीएल का ये स्टार पिछले कुछ समय में भारतीय टीम के लिए मा’इ’ल’स्टोन साबित हुआ है। आज उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको बताते हैं हैदराबाद की तं’ग ग’लियों से लेकर ब्रि’स्बेन तक का सिराज का सफर…

<p>आज उनके बेटे ने फर्श से अर्श तक का सफर पूरा किया और जिस रफ्तार से वह अपनी करियर की सीढ़ी चढ़ रहे हैं, उसे देखकर उनके पिता जहां भी होंगे वहां से उन्हें दुआ दे रहे होंगे।</p> 13 मार्च 1994 में हैदराबाद के एक नि’म्न वर्गीय परिवार में जन्में भारतीय टीम के यं’ग एंड टै’लें’टेड बॉलर मो’हम्मद सिराज ने बहुत कम समय में अपना नाम कमा लिया है। आज उनका नाम भारतीय क्रिकेट के शानदार बॉ’लर्स में लिया जाता है।

सिराज ने अपना फर्स्ट क्लास डे’ब्यू 15 नवंबर 2015 को कार्तिक उ’डुपा की कोचिंग में हैदराबाद में रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट में खेलकर किया था। इस टूर्नामेंट के दौरान उन्होंने हैदराबाद के लिए सबसे ज्यादा 41 विकेट लिए थे। इसके बाद 2 जनवरी 2016 को सै’यद मुश्ताक अली ट्रॉफी टूर्नामेंट में उन्होंने अपना टी 20 डेब्यू किया।

<p>दरअसल, सिराज का बचपन बहुत गरीबी में बीता है, उनके पिता ऑटो चालते थे। पिता ने अपनी गरीबी को सिराज के क्रिकेट करियर में रोड़ा नहीं बनने दिया और तमाम दिक्कतों के बावजूद उन्होंने ऑटो चलाकर बेटे के लिए क्रिकेट की महंगी किट का इंतजाम किया।</p> मोह’म्मद सिराज ने 2017 में भारत के लिए राजकोट में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना पहला टी20 इंटरनेशनल मैच खेला था। उसी साल उन्हें आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद ने अपनी टीम में शामिल किया था। हालांकि 1 साल बाद वह हैदराबाद छोड़ रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु का हिस्सा बन गए थे। पिछले 3 सालों में उन्होंने 35 आईपीएल मैच खेले है, जिसमें उन्होंने 39 विकेट अपने नाम किए।

21 अक्टूबर 2020 को वह इंडियन प्रीमियर लीग के इतिहास में पहले ऐसे गेंदबाज बने, जिन्होंने एक ही मैच में दो मेडन ओवर डाले। इसके बाद उनका क्रिकेट करियर एक्सीलेटर के टॉप मोड में आया और उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका मिला।

<p>इसके बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 15 जनवरी 2021 को पहला वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने का मौका भी मिला, जिसमें उन्होंने 1 विकेट अपने नाम किया। वहीं, अपने करियर में वह अबतक 3 टी20 इंटरनेशनल मैच में 3 विकेट अपने नाम कर चुके हैं।</p> 26 दिसंबर 2020 को उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया। इस दौरान मो’हम्मद सिराज ने टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत में अहम रोल निभाया। तीन टेस्ट मैचों में सिराज ने सबसे ज्यादा 13 विकेट अपने नाम किए।

इसके बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 15 जनवरी 2021 को पहला वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने का मौका भी मिला, जिसमें उन्होंने 1 विकेट अपने नाम किया। वहीं, अपने करियर में वह अबतक 3 टी20 इंटरनेशनल मैच में 3 विकेट अपने नाम कर चुके हैं।

हाल ही में उन्होंने 4 मार्च 2021 को इंग्लैंड के खिलाफ भी टेस्ट मैच खेला था। इस मैच में उन्होंने 2 विकेट अपने नाम किए थे। पिछले कुछ समय से उनकी इस शानदार परफॉर्मेंस के बाद हर कोई उनका मुरीद हो गया है। हालांकि सिराज का क्रिकेटर बनने का सपना इतनी आसानी से पूरा नहीं हुआ है।

दरअसल, सिराज का बचपन बहुत गरीबी में बीता है, उनके पिता ऑटो चालते थे। पिता ने अपनी गरीबी को सिराज के क्रिकेट करियर में रोड़ा नहीं बनने दिया और तमाम दिक्कतों के बावजूद उन्होंने ऑटो चलाकर बेटे के लिए क्रिकेट की महंगी किट का इंतजाम किया।

<p>26 दिसंबर 2020 को उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया। इस दौरान मोहम्मद सिराज ने टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत में अहम रोल निभाया। तीन टेस्ट मैचों में सिराज ने सबसे ज्यादा 13 विकेट अपने नाम किए।</p> बेटे ने भी पिता की मेहनत को ब’र्बाद नहीं होने दिया और उनका सपना पूरा किया। ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतकर भारत पहुंचने के बाद मो’हम्मद सिराज सबसे पहले क’ब्रिस्तान गए और वहां अपने पिता मो’हम्मद गोस को श्र’द्धांजलि दी थी। सिराज के पिता की मौ’त ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान हो गई थी।

<p>बेटे ने भी पिता की मेहनत को बर्बाद नहीं होने दिया और उनका सपना पूरा किया। ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतकर भारत पहुंचने के बाद मोहम्मद सिराज सबसे पहले कब्रिस्तान गए और वहां अपने पिता मोहम्मद गोस को श्रद्धांजलि दी थी। सिराज के पिता की मौत ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान हो गई थी।</p> आज उनके बेटे ने फ’र्श से अर्श तक का सफर पूरा किया और जिस रफ्तार से वह अपनी करियर की सीढ़ी चढ़ रहे हैं, उसे देखकर उनके पिता जहां भी होंगे वहां से उन्हें दु’आ दे रहे होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page