हुजुर (स. अ. व.) की ये 10 आदतें हर मु’सलमान को अपनानी चाहिए, नंबर 1 है सभी पर फ’र्ज

ह’दीस में न’बी करी’म पै’गंबर मु’हम्मद की आदतों और रि’वायतों को बहुत त.फसील से बयान किया गया है जो कि हर मु,सलमान को उसकी ज़िन्दगी जीने के लिए बेहतरीन र’ह’नुमाई का काम करती हैं, इसलिए हर मु,स्लमान को न सिर्फ उनकी इन श’रीफ़ आदतों को जानना चाहिए बल्कि सवाब की नि’यत से उस पर अ,मल भी करना चाहिए । न,बी क’रीम स.अ. की बे’शुमार अच्छी आदतों में से 10 ख़ास आदतें हम यहाँ आपके सामने बयान करेंगे जिन पर आप आज ही से अ’मल करना शुरू कर दें |

हिन्दू लड़कों को नमाज पढ़ने के लिए किया मजबूर, दो टीचर निलंबित - 2-mewat-teachers-suspended-for-forcing-students-to-recite-namaz1. न,माज़ और दु,आ
यह दुनिया भर के मु,सलमानों के लिए बहुत ज़रूरी है। दुनिया भर के त,माम कामों के साथ साथ अ,ल्लाह के सामने सर झु,का कर अपने गु,नाहों का ए,तराफ़ करना एक बेहतरीन आदत है जो कि हर न,बी और व,ली ने किया है ।

2. पेट के बल नहीं सोना
यह पै,गंबर मु,हम्मद (स.अ.) की सबसे आम परं,पराओं में से एक है कि उन्होंने मु,सलमानों को पेट के बल लेटने से मना किया क्योंकि अ,ल्लाह इस हालत को ना,पसंद करता है।

3. ख़जूर
पाचन तंत्र को बेहतरीन बनाने में मदद करने के लिए खजूर का इस्तेमाल किया जाता है। अरब में इसका बहुत रि,वाज है वहां घर घर द,स्तरख्वान पर ये मौजूद होती है, इसकी ख़ूबियों की वजह से ही रो,,ज़ा इफ़्तार करने के लिए इसी का इस्तेमाल होता है ।

4. रो,ज़ा रखना
हमारे पै,गंबर मु,हम्मद (स.अ.) ने न सिर्फ़ र,मजान में रो,ज़ा रखा, बल्कि अलग-अलग समय पर र,मजान के अलावा भी नियमित रूप से रो,ज़ा रखते रहे, ज्यादातर हर सोमवार और गुरुवार को रो,ज़ा रखना उनकी आदत थी।

5. धीरे-धीरे पानी पीना
विज्ञान ने अपनी रि,सर्च के आधार पर यह स्वीकार किया है कि एक ही बार में पानी पीना सिरदर्द और अ,संतुलन का कारण हो सकता है।

6. जल्दी जागना
पै,गंबर मु,हम्मद (स.अ.) सुबह की न,माज़ के लिए जल्दी उठते थे। यानि फ,ज्र की न,माज़ से पहले त,हज्जुद के व,क़त ही उठ जाते थे, और आज विज्ञान भी कहता है कि सुबह जल्दी उठने से बेहतर उत्पा,दकता मिलती है।

7. मुस्कुराना
पै,गंबर मुह,म्मद (स.अ.) हमेशा मुस्कुराते रहते थे। और फ़रमाया कि मुस्कुराना स,दक़ा है यानि अगर कोई स,दक़ा नहीं कर सकता तो कम कम लोगों से मु,स्कुरा कर मिले इसी से स,दके का स,वाब हासिल हो जायेगा ।

8. अपना मु,हास्बा करना, खुद पर गौ,र फ़िक्र करना
पै,गंबर मु,हम्मद (PBUH) गु,फा में खुद जाकर इ,बादत किया करते थे और कभी क,भार लोगों से अलग थलग होकर सिर्फ अ,ल्लाह से लौ लगते थे |

9. दांतों की सफाई सु,थराई
पै,गंबर मु,हम्मद (PBUH) रोजाना हर न,माज़ के वक़्त अपने दांतों को मि,सवाक की मदद से साफ करते थे।

10. स,दक़ा दान देना
पै,गंबर मु,हम्मद (स.अ.) स,दक़ा देने और गरीबों की मदद के लिए बहुत मशहूर थे । आपने फ़,रमाया कि वह मु,सलमान नहीं है जिसका पेट भरा हुआ है और उसके पड़ो,सी भू,खे सो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page