म’स्जिद में लाऊडस्पीकर में अ’जान पर BHU छात्र ने की शिकायत, अजान से मा’नसिक हालत खराब..

म’स्जि’द में लाउडस्पीकर से अ’जा’न को लेकर परेशानी का एक और मामला सामने आया है. यह मामला पीएम नरेंद्र मोदी के सं’स’दी’य क्षेत्र वाराणसी से जुड़ा है. यहां बीएचयू के एक छात्र ने वाराणसी पु’लि’स को ट्वी’ट कर यह शिकायत की है कि घर के बगल में म’स्जि’द है और वहां से निकलने वाली आवाज से त’ना’व हो रहा है. कृपया इसका निवारण करने की कृपा करें. खास बात यह रही कि वाराणसी पु’लि’स ने बकायदा इस पर रिप्लाई करते हुए कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

प्रयागराज के बाद अब वाराणसी में मस्जिद में लाउडस्पीकर से अजान पर ऐतराज जताय गया है. (सांकेतिक तस्वीर)मामला वाराणसी के भदैनी इलाके का है. यहां बीएचयू के छात्र करुणेश पांडेय किराए पर कमरा लेकर रहते हैं. करुणेश पांडे ने गुरुवार सुबह वाराणसी पु’लि’स को एक ट्वीट करते हुए कहा मैं करुणेश पांडे वाराणसी के भ’दै’नी में कमरा लेकर रहता हूं. हमारे बगल में म’स्जि’द है, जहां से प्रत्येक सुबह दोपहर, शाम, रात लाउडस्पीकर पर जोर-जोर से चि’ल्ला’ने से मा’न’सि’क अ’व’रो’ध उत्पन्न होता है. महोदय से निवेदन है कि य’थो’चि’त उपाय करें.’

इस ट्वी’ट का रिप्लाई करते हुए वाराणसी पु’लि’स ने लिखा उ’क्त प्र’क’र’ण के संबंध में भेलूपुर प्रभारी नि’री’क्ष’क को कार्रवाई हेतु निर्देश दिए गए हैं.’

ये है छात्र का ट्वीट

vns azanबीएचयू छात्र के ट्वीट पर पु’लि’स का रिप्लाई

पढ़ाई में बाधा आने की कही बात
न्यूज़ 18 ने करुणेश पांडेय से मुलाकात की तो उन्‍होंने बताया कि वह पिछले 1 साल से यहां रह रहे हैं. यहां सुबह से लेकर शाम तेज आवाज से उनकी मा’न’सि’क हालत को असर पहुंच रही है. साथ ही उनकी पढ़ाई में वि’घ्न भी आता है. यही कारण है कि उन्‍होंने वाराणसी पु’लि’स से यह गुहार लगाई है.

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की वीसी ने की थी शि’का’य’त
बता दें कि इससे पहले प्रयागराज में इलाहाबाद सें’ट्र’ल यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने लाउडस्पीकर से अ’जा’न को लेकर जिला प्र’शा’स’न और पु’लि’स को पत्र लिखा था. इसके बाद अब करुणेश पांडे का यह ट्वीट बनारस में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है. लाउडस्‍पीकर से अ’जा’न के की शि’का’यत का वाराणसी में यह पहला मामला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page