फैक्ट चेक: एक ही घर के 3 भाई-बहन बने IAS-IPS अ’फसर, अब सच्चाई आई सामने ?

देश में IAS-IPS अ’फसरों को लेकर एक अलग ही रौ’ब और सम्मान का नजरिया रहता है। लोग अ’फसरों से प्रभावित भी होते हैं। कई अ’फसरों की सं’घर्ष की कहानियां मि’साल पेश करती हैं। ऐसा भी हुआ है जब एक ही परिवार से कई अ’फसर निकलें हों। इसी तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर एक तस्वीर जमकर वायरल हो रही है। लोगों का दावा है कि ये एक सो’फे पर वि’रा’जमान तीन अ’फसर भाई-बहन हैं और एक ही परिवार से हैं।

<p><strong>वायरल पोस्ट क्या है?</strong></p> <p>फ़ेसबुक यूज़र दुर्गा ख़ातून ने 3 पुलिस आधिकारियों की साथ में एक तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया कि तीनों भाई-बहन हैं। बंगाली में लिखे कैप्शन के अनुसार लड़कियां परिवार पर बोझ नहीं होतीं और उन्हें समान मौका मिलना चाहिए। दावा किया गया कि तीनों भाई बहन आईपीएस अधिकारी हैं-" इस पोस्ट को 7,600 से ज़्यादा बार शेयर किया गया।</p> फेसबुक, ट्विटर पर लोग एक तस्वीर को नए-नए कैप्शन के साथ ध’ड़ाधड़ शेयर कर रहे हैं। फै’क्ट चे’क में हमने तस्वीर और तस्वीर में मौजूद अ’धि’का’रियों के बारे में जानने की कोशिश की तो मामला कुछ और ही निकला। दरअसल सोशल मीडिया पर जिन तीन अ’फ’स’रों की फोटो वायरल है वो खुद फेसबुक औऱ इंस्टाग्राम पर तस्वीर को लेकर किए जा रहे दावे के लिए सफाई पेश कर रहे हैं। जानिए पूरा मामला
वायरल पोस्ट क्या है?

<p><strong>क्या दावा किया जा रहा है?</strong></p> <p>इंग्लिश में भी ट्विटर पर ये पोस्ट जमकर शेयर की जा रही है। लिखा है दो भाई और एक बहन तीनों पुलिस सेवा में। ऐसे मात-पिता को हमारा सलाम है।</p> फ़ेसबुक यूज़र दु’र्गा ख़ा’तून ने 3 पुलिस आ’धि’का’रि’यों की साथ में एक तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया कि तीनों भाई-बहन हैं। बंगाली में लिखे कैप्शन के अनुसार लड़कियां परिवार पर बोझ नहीं होतीं और उन्हें समान मौका मिलना चाहिए। दावा किया गया कि तीनों भाई बहन आ’ई’पी’एस अ’धि’का’री हैं इस पोस्ट को 7,600 से ज़्यादा बार शेयर किया गया।

<p><strong>फ़ैक्ट-चेक</strong></p> <p>गूगल पर एक रिवर्स इमेज सर्च ने हमें ओरिजिनल तस्वीर तक पहुंचाया जिसे हरियाणा कैडर की आईपीएस (प्रोबेशनर) पूजा वशिष्ठ ने अपने इन्स्टाग्राम अकाउंट पर 22 अगस्त को शेयर किया था।</p> क्या दावा किया जा रहा है?
इंग्लिश में भी ट्विटर पर ये पोस्ट जमकर शेयर की जा रही है। लिखा है दो भाई और एक बहन तीनों पु’लि’स सेवा में। ऐसे मात-पिता को हमारा स’लाम है।

फ़ैक्ट-चेक
गूगल पर एक रि’व’र्स इमेज सर्च ने हमें ओ’रि’जि’नल तस्वीर तक पहुंचाया जिसे हरियाणा कै’ड’र की आ’ई’पी’एस (प्रो’बे’श’नर) पू’जा व’शिष्ठ ने अपने इ’न्स्टाग्राम अकाउंट पर 22 अगस्त को शेयर किया था।

<p>पूजा वशिष्ठ ने एमपी कैडर के आईपीएस श्रुत कीर्ति सोमवंशी और पंजाब कैडर के तुषार गुप्ता को टैग किया था। तुषार गुप्ता ने भी सरदार वल्लभभाई पटेल नेशनल पुलिस अकैडमी में खींची गयी ये तस्वीर अपने इन्स्टाग्राम हैंडल से अपलोड की थी।</p> पू’जा व’शिष्ठ ने ए’म’पी कैडर के आ’ई’पी’ए’स श्रुत की’र्ति सो’मवंशी और पंजाब कै’डर के तुषार गुप्ता को टै’ग किया था। तुषार गुप्ता ने भी सर’दार व’ल्लभभाई पटेल ने’श’न’ल पु’लिस अ’कैड’मी में खींची गयी ये तस्वीर अपने इ’न्स्टा’ग्रा’म हैं’ड’ल से अपलोड की थी।

<p><strong>ये निकला नतीजा</strong></p> <p>तीनों अधिकारियों के अलग सरनेम और उनका अलग-2 राज्यों से होना यह साफ़ करता है कि वे भाई-बहन नहीं हो सकते हैं। श्रुत कीर्ति सोमवंशी और तुषार गुप्ता ने इस अफ़वाह को गलत बताकर बहुत सी फेक चेक रिपोर्ट सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के साथ साझा कीं। उन्होंने लिखा कि ये गलत सूचना है हम साथ बैठे तीनों अफसर भाई-बहन नहीं हैं।&nbsp;</p> ये निकला न’ती’जा
तीनों अ’धि’का’रि’यों के अलग सरनेम और उनका अलग-2 राज्यों से होना यह साफ़ करता है कि वे भाई-बहन नहीं हो सकते हैं। श्रु’त कीर्ति सोमवंशी और तुषार गुप्ता ने इस अ’फ़’वाह को ग’ल’त बताकर बहुत सी फे’क चेक रि’पोर्ट सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के साथ साझा कीं। उन्होंने लिखा कि ये गलत सूचना है हम साथ बैठे तीनों अ’फ’स’र भाई-बहन नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page