फेक्ट चेक: कु’रा’न से 26 आ’य’तें हटाने की अर्जी देने वाले वसीम रिजवी की पि’टा’ई का वीडियो हुआ वायरल, अब सच्चाई आई सामने ?

हाल ही में शि’या व’क्फ़ बो’र्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिज़वी ने कु’रा’न की 26 आ’य’तें हटाने के लिए सु’प्री’म को’र्ट में ज’न’हि’त या’चि’का दी थी. रिज़वी के मुताबिक ये 26 आय’तें हिं’सा सिखाती हैं और इन्हें वि’वा’दि’त बताया. इसी के बाद से शि’या और सु’न्नी, दोनों मु’स्लि’म स’मु’दा’य वसीम रिजवी का विरोध कर रहे हैं. 19 मार्च, 2020 को दिल्ली के जामा म’स्जिद के आगे सैकड़ों लोगों ने रिज़वी के खिलाफ़ जमकर नारेबाज़ी की और उन्हें मु’स्लिम विरो’धी बताया.

इस घटना के एक हफ़्ते बाद कई सोशल मीडिया यूज़र्स एक वीडियो शेयर करने लगे जिसमें पु’लि’स एक व्यक्ति को भीड़ से बचाकर निकाल रही है. इस व्यक्ति के क’प’ड़े भी फाड़ दिए गए हैं और पु’लि’स उसे न’ग्न हालत में बचा कर वहां से ले जा रही है.

लोगों ने इसे शेयर करते हुए लिखा, “वसीम रिज़वी का बु’रा हाल किया लोगों ने.

वसीम रिज़वी की पि’टा’ई का वीडियो बताकर ये फे़सबुक पर ख़ूब वायरल हो रहा है.

फे़सबुक ही नहीं कुछ ट्विटर यूज़र्स भी ये वीडियो शेयर करते हुए यही दावा कर रहे हैं कि वीडियो में दिख रहा श’ख्स वसीम रिज़वी हैं.

वीडियो में वसीम रिज़वी नहीं, भाजपा विधायक अरुण नारंग
इस वीडियो में कई पु’लि’स वालों ने पगड़ी पहनी हुई है. इससे हिं’ट लेते हुए कीवर्ड सर्च करने पर सबसे पहले इंडिया टुडे की 28 मार्च, 2020 की वीडियो रिपोर्ट सामने आती है. रिपोर्ट के मुताबिक, 27 मार्च को पंजाब के अबोहर से भाजपा विधायक अरुण नारंग भाजपा कार्यालय एक प्रे’स कॉ’न्फ़्रे’स करने पहुंचे थे. लेकिन किसान वहां पहले से ही मौजूद थे और उन्हें घे’र लिया गया. किसानों ने अरुण ना’रं’ग पर ह’म’ला कर उनके कपड़े फा’ड़ दिए. पु’लि’स ने जैसे-तैसे उन्हें भीड़ से निकाला और सु’र’क्षि’त जगह पर ले गई.

किसान आ’न्दो’ल’न को 4 महीने बीतने के बाद भी किसान अपनी मां’ग पर अड़े हुए हैं और सरकार भी पीछे हटने को तैयार नहीं है. पंजाब और हरियाणा के किसान भाजपा सरकार द्वारा पा’रित किये गये नए कृ’षि का’नू’नों को वापस लेने की मांग पिछले नवम्बर से ही कर रहे हैं.
अरुण नारंग के साथ हुई ये घ’ट’ना सर्च करने पर द’र्ज’नों न्यूज़ और वीडियो रिपोर्ट्स मिलती हैं. पाठक नीचे हरियाणा में अरुण नारंग के साथ हुई घ’ट’ना और वायरल दावे से ली गयी स्क्री’न’शॉ’ट देख सकते हैं. दोनों में एक ही व्यक्ति है.

वसीम रिज़वी और अरुण नारंग की तस्वीर में देखा जा सकता है कि दोनों व्यक्तियों के चेहरे बिल्कुल ही अलग हैं. वायरल वीडियो शि’या व’क्फ़ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी की पि’टा’ई का बताया जा रहा है, ये असल में भाजपा विधायक अरुण नारंग की किसानों द्वारा पि’टा’ई का है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page