बिना पूछे ही रिज़वान ने अंपायर से मांगा DRS, भड़के बाबर आज़म कहा कप्तान मैं हूं

Advertisement
4

एशिया कप 2022 के सुपर 4 का आखिरी मुक़ाबला पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच खेला गया. इस लो स्कोरिंग मैच में श्रीलंका ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पाकिस्तान को 5 विकेट से हरा दिया. हालांकि इस हार से किसी को कोई फर्क नहीं पड़ा और दोनों टीमें 11 सितम्बर को फाइनल खेलेंगी. इस मैच के दौरान पाकिस्तान के कप्तान बाबर आज़म और विकेट कीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान के बीच कुछ ऐसा हुआ जिसके बाद बाबर आजम को यह बताना पड़ा कि वे कप्तान हूं.

Advertisement

babar_azam_drs.png

Advertisement

दरअसल दूसरी पारी में जब श्रीलंका बल्लेबाजी कर रही थी. तब 16वां ओवर हसन अली डाल रहे थे. इस दौरान स्ट्राइक पर कप्तान दासुन शनाका थे. ओवर की दूसरी गेंद आली ने शॉट पिच फेंकी. सनाका ने अपर कट मारने की कोशिश की. लेकिन गेंद बल्ले के करीब से गुजरते हुए विकेट कीपर मोहम्मद रिजवान के पास चली गई. रिजवान ने आत्मविश्वास से भरी अपील की मगर अंपायर ने उन्हें नॉट आउट करार दिया. इसके बाद रिजवान ने बिना कप्तान बाबर आजम से कुछ बात किए डीआरएस ले लिया. इतना नहीं अंपायर अनिल चौधरी ने उनकी बात मान ली.

जैसे ही बाबर ने ये सब देखा वे भागते हुए पिच के पास आए और रिजवान से कहा कि कप्तान मैं हूं. हालांकि टीम ने यह रिव्यू खोया और शनाका नॉट आउट ही रहें. बता दें कि नियम के अनुसार कप्तान का ग्रीन सिग्नल मिलने के बाद ही अंपायर DRS मंजूर करता है. मगर रिजवान के कहने पर अंपायर ने सीधे फैसला कर दिया. ऐसे में बाबर ने कहा कि ‘कप्तान तो मैं हूं’. बाबर का यह रिकएक्शन भी वीडियो में कैद हो गया और यह काफी वायरल भी हो रहा है.

बता दें इस मैच में पाकिस्तान कि टीम फिरकी गेंदबाज वानिंदु हसरंगा के सामने तिक नहीं पाई और 121 रन पर ढेर हो गई. पाकिस्तान ने लिए बाबर ने 30 और मोहम्मद नवाज़ ने 26 रन बनाए. वहीं हसरंगा ने 3, महीष तीक्षणा और प्रमोद मदुशनी ने 2-2 विकेट लिए. श्रीलंका ने निसंका की 48 गेंद में पांच चौकों और एक सिक्स से नाबाद 55 रन की पारी और भानुका राजपक्षे (24) के साथ उनकी चौथे विकेट की 51 रन की साझेदारी से 17 ओवर में ही पांच विकेट पर 124 रन बनाकर जीत दर्ज की. कप्तान दासुन शनाका ने भी 16 गेंद में 21 रन बनाए. श्रीलंका की टीम सुपर चार चरण में अजेय रही.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page