दिल्ली ने अरुण जेटली स्टेडियम में खेले गए रणजी मुकाबले (Delhi vs Mumbai, Elite Group B) में 41 बार की चैंपियन टीम मुंबई को 43 साल के बाद शिकस्त दी मैच (Delhi vs Mumbai, Elite Group B) में कप्तान बदलते ही दिल्ली की किस्मत भी बदल गई|

दिल्ली को रणजी सत्र की पहली जीत मुंबई जैसी मजबूत टीम के खिलाफ आठ विकेट से मिली। मुंबई के विरुद्ध इस मुकाबले (Delhi vs Mumbai, Elite Group B) में टीम के नियमित कप्तान यश ढुल की जगह हिम्मत सिंह ने कप्तानी की। रणजी ट्रॉफी फाइनल 1979-80 के बाद दिल्ली की मुंबई पर यह पहली जीत है।

उस दौरान बिशन सिंह बेदी की अगुवाई वाली टीम ने सुनील गावस्कर की टीम को 240 रन से हराया था। मैच (Delhi vs Mumbai, Elite Group B) के चौथे दिन दिल्ली को जीत के लिए 95 रन का लक्ष्य मिला था| दिल्ली की टीम ने आठ विकेट शेष रहते लक्ष्य को हासिल कर लिया।

Delhi vs Mumbai, Elite Group B मैच में दिल्ली ने दूसरी पारी में दो विकेट पर 97 रन बनाए, जिसमें वैभव शर्मा ने 36 रन जबकि अनुज रावत ने 14 रन का योगदान दिया। इसके बाद रितिक शौकीन ने नाबाद 36 रन और नितीश राणा ने नाबाद 6 रन की पारी खेलते हुए मैच (Delhi vs Mumbai, Elite Group B) को आसानी से जीता दिया।

इससे पहले, मैच (Delhi vs Mumbai, Elite Group B) में मुंबई की दूसरी पारी 170 रन पर आलआउट हो गई। दूसरी पारी में दिल्ली की तरफ से दिविज मेहरा ने घातक गेंदबाजी करते हुए पांच विकेट हासिल किये। Delhi vs Mumbai, Elite Group B मैच की पहली पारी में शतक ठोकने वाले सरफराज दूसरी पारी में पहली गेंद पर ही क्लीन बोल्ड हो गये|

पहली पारी में 45 रन का महत्वपूर्ण योगदान देने वाले ऋतिक ने दूसरी पारी में 39 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्के की बदौलत नाबाद 36 रन बनाते हुए सलामी बल्लेबाज वैभव शर्मा के साथ 69 रन की साझेदारी की। वैभव ने 49 गेंदों पर चार चौकों और एक छक्के के साथ 36 रन का योगदान दिया।

उनके आउट होने के बाद विकेट पर उतरे नितीश राणा ने छक्का लगाकर दिल्ली को Delhi vs Mumbai, Elite Group B मैच में जीत दिलाई। दिल्ली ने इससे पहले 1980 में मुंबई को रणजी ट्रॉफी मुकाबले में मात दी थी। यह 41 बार की रणजी चैंपियन मुंबई के खिलाफ दिल्ली की कुल दूसरी जीत है।