नबी ने की छक्कों की बारिश, राशिद खान की आखिरी 6 गेंदों में फंसा जिम्बाब्वे, अफगानिस्तान ने जीती टी 20 सीरीज

Advertisement

अफगानिस्तान (Afghanistan) की टीम ने जिम्बाब्वे (Zimbabwe) दौरे पर टी20 सीरीज पर भी कब्जा कर लिया है। दूसरे टी20 मैच में अफगानिस्तान ने मेजबान जिम्बाब्वे को 21 रनों से मात दी। इसके साथ ही सीरीज में अफगानिस्तान ने 2-0 की विजयी बढ़त हासिल कर ली है।

Advertisement

मैच में पहले खेलते हुए अफगानिस्तान ने 5 विकेट पर 170 रन बनाए। जवाब में खेलते हुए जिम्बाब्वे की टीम 7 विकेट पर 149 रन ही बना पाई। अफगानिस्तान के गेंदबाज फजलहक फारुखी को जबरदस्त गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया। अफगानिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया।

Advertisement

हालांकि शुरुआत अच्छी नहीं रही और रहमानुल्लाह गुरबाज 1 रन बनाकर वापस लौट गए। उनके बाद तेज बैटिंग कर रहे हज़रतुल्लाह जजई भी 28 रन के निजी स्कोर पर चलते बने। यहाँ से कुछ और विकेट भी गिरे लेकिन नजीबुल्लाह ने एक छोर पर खड़े होकर बेहतरीन बैटिंग की। उन्होंने 57 रनों की पारी खेली। निचले क्रम से अंतिम ओवरों में नबी ने 22 गेंद पर चार छक्के जड़ते हुए नाबाद 43 रनों की पारी खेलते हुए अफगानिस्तान की पारी को 5 विकेट पर 170 रनों के स्कोर तक पहुंचाया। जिम्बाब्वे के लिए चतारा ने सबसे ज्यादा 2 विकेट झटके।

जवाब में खेलते हुए जिम्बाब्वे ने मैधेवेरे का विकेट सबसे पहले गंवाया। वह 8 रन बनाकर चलते बने। उनके बाद इनोसेंट कैया और मरुमानी ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए अर्धशतकीय भागीदारी की। मरुमानी 30 रन बनाकर आउट हो गए। क्रैग इरविन भी आते ही पवेलियन लौट गए। वह 2 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए

Advertisement

इस बीच सिकन्दर रजा ने तेज बैटिंग से जीत की उम्मीद जगाई। वह 21 गेंद में 41 रन बनाकर चलते बने। उनके अलावा इनोसेंट कैया 54 रन बनाकर आउट हो गए। इस तरह जिम्बाब्वे की टीम 7 विकेट पर 149 रनों के स्कोर तक पहुँच पाई। अफगानिस्तान के लिए राशिद खान ने सबसे ज्यादा 2 विकेट झटके।

आखिरी ओवर में राशिद की शानदार गेंदबाजी
आखिर की 6 गेंदों पर जिम्बाब्वे को जीत के लिए 28 रन बनाने थे और उसके 5 विकेट शेष थे| राशिद खान ने जिम्बाब्वे को आखिरी ओवर में सिर्फ 5 रन ही बनाने दिए और बदले में 2 विकेट चटका लिए।

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page