जीत की चाबी बने मोहम्मद शमी, गुजरात को अकेले 90 फीसदी मैच में दिलाई जीत, देखें आंकड़े

Advertisement

आईपीएल को नया चैम्पियन मिलेगा या 14 साल बाद राजस्थान रॉयल्स दूसरी बार खिताब जीतेगी, यह आज साफ हो जाएगा. अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में गुजरात टाइटंस और राजस्थान रॉयल्स के बीच आईपीएल का फाइनल खेला जाएगा. दोनों ही टीमों ने इस सीजन में धमाकेदार प्रदर्शन किया है. गुजरात की टीम के लिए तो यह आईपीएल का पहला साल है. लेकिन, हार्दिक पंड्या की अगुवाई वाली यह टीम चैम्पियन की तरफ खेली और बड़ी-बड़ी टीमों को धूल चटाकर फाइनल में पहुंचीं.

Advertisement

दूसरी तरफ, राजस्थान का प्रदर्शन भी कमाल का रहा. यह टीम पिछले आईपीएल में फिसड्डी साबित हुई थी. लेकिन, इस बार जिन भी खिलाड़ियों पर टीम ने ऑक्शन में दांव खेला, सब उसकी उम्मीदों पर खरे उतरे और अब महामुकाबले में भी टीम को उनसे यही उम्मीद होगी. लेकिन, राजस्थान के दूसरी बार चैम्पियन बनने की राह में गुजरात का एक गेंदबाज बड़ा रोड़ा साबित हो सकता है. इस सीजन में यह गेंदबाज गुजरात टाइटंस के लिए असल मायने में मैच विनर साबित हुआ है. पावरप्ले में इस गेंदबाज ने विरोधी टीम के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया है. यह गेंदबाज हैं मोहम्मद शमी.

Advertisement

शमी हैं गुजरात की जीत की गारंटी
शमी के 11 विकेट आईपीएल के इस सीजन में पावरप्ले में एक तेज गेंदबाज द्वारा संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा हैं. शमी कैसे गुजरात की जीत की गारंटी हैं? इसे एक आंकड़े से समझा जा सकता है. शमी ने आईपीएल 2022 के जिन 12 मुकाबलों में विकेट लिए हैं, उसमें से 11 में गुजरात को जीत मिली है. यानी शमी ने 90 फीसदी मुकाबले टीम को जिताए. संयोग से गुजरात ने तीन मुकाबले तब गंवाए, जब शमी को मैच में एक भी विकेट नहीं मिला. इससे समझा जा सकता है कि शमी गुजरात टाइटंस की जीत-हार में कितना बड़ा फर्क पैदा करते हैं.

Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page