इस साल बेहद मज़ेदार होगा IPL, देखने को मिलेंगे ये 5 बदलाव, पहली बार ग्रुप फॉर्मेट में खेले जायेंगे मैच!

आईपीएल का 15वां संस्करण पहले से ज्यादा मज़ेदार होने वाला है. बीसीसीआई ने इंडियन प्रीमियर लीग को मज़ेदार बनाने के लिए कमर कस ली है. इस साल कई बदलाव देखने को मिल सकते हैं. अप्रैल-मई में खेले जाने वाले क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप की सबसे बड़ी लीग में पहली बार कई नए बदलाव देखने के मिलेंगे.

10 टीमें
आईपीएल में फिर से 10 टीमें देखने को मिलेंगी. इससे पहले 2011 में 10 टीमों ने हिस्सा लिया था. इस बार लखनऊ और अहमदाबाद को शामिल किया गया है. आरपीएसजी ग्रुप ने लखनऊ को 7090 करोड़ रुपये में खरीदा. वहीं, सीवीसी कैपिटल ने अहमदाबाद फ्रैंचाइजी के लिए 5625 करोड़ रुपये की बोली लगाई.

आईपीएल की घर वापसी
लगातार दो सीजन में यूएई में आईपीएल के आयोजन के बाद इसकी घर वापसी इस बार होने की उम्मीद है. पिछले साल टूर्नामेंट का पहला चरण भारत में खेला गया था. मई के पहले हफ्ते में कोरोना के मामले बायो-बबल में सामने आने के बाद टूर्नामेंट को रोक दिया गया था. सितंबर-अक्टूबर मे इसके दूसरे चरण का आयोजन यूएई में हुआ. इससे पहले 2020 में भी आईपीएल की मेजबानी यूएई ने की थी.

दर्शकों को होगी स्टेडियम में वापसी
स्टेडियम में फिर से एक बार दर्शक अपनी पसंदीदा टीमों को चीयर करते नजर आएंगे. कोरोना के कारण लगातार दो सीजन में दर्शक के बगैर मैच हुए हैं. इस बार माना जा रहा है कि दर्शकों को सीमित संख्या में स्टेडियम में जाने की अनुमति दी जाएगी.

नहीं होगा आरटीएम का इस्तेमाल
आईपीएल नीलामी में इस बार आरटीएम का इस्तेमाल नहीं होगा. इसके जरिए दूसरी टीमों द्वारा बोली लगाए जाने के बावजूद फ्रैंचाइजी सीमित संख्या में अपने पुराने खिलाड़ियों को खरीदने में कामयाब होती थी. आरटीएम की इस्तेमाल की संख्या सीमित होती थी. इस बार ऐसा नहीं होगा.

उदाहरण से समझिए आरटीएम का इस्तेमाल कैसे होता है?-  मान लिजिए रोहित शर्मा को मुंबई इंडियंस ने रीटेन नहीं किया. चेन्नई सुपरकिंग्स ने नीलामी में उन पर 14 करोड़ की बोली लगाई. चेन्नई द्वारा खरीदे जाने के तुरंत बाद नीलामी करवाने वाले मुंबई से पूछेंगे कि क्या वो रोहित के लिए आरटीएम का इस्तेमाल करेंगे? अगर मुंबई ने आरटीएम का इस्तेमाल किया था तो रोहित 14 करोड़ में चेन्नई की जगह मुंबई की टीम में शामिल हो जाएंगे.

फॉर्मेट में होगा बदलाव
आईपीएल में इस बार 10 टीमें होंगी तो होम और अवे वाले फॉर्मेट में मैच कराना मुश्किल होगा. माना जा रहा है कि राउंड-रॉबिन की जगह ग्रुप फॉर्मेट में टूर्नामेंट का आयोजन हो सकता है. बीसीसीआई ने इस बारे में आधिकारिक जानकारी नहीं दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page