ऑस्ट्रेलिया से हारकर भी भारत खेलेगा वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल! जाने गणित

अब जबकि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप जारी है, इसके मैचों के कुछ अप्रत्याशित या प्रत्याशित परिणाम जारी हैं, तो वहीं टीम इंडिया के इसके फाइनल (WTC Final 2023) में खेलने का गणित भी और जटिल हो रहा है. पाकिस्तान के न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज ड्रॉ खेलने से रोहित एंड कंपनी के लिए हालात निश्चित रूप से बदल चुके हैं. पाकिस्तान तो अब यहां से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) के फाइनल के लिए क्वालीफाई की दौड़ से बाहर हो चुका है, लेकिन भारत के लिए उम्मीद बची हुई है, लेकिन इसके लिए पहली बड़ी शर्त यह है कि अगर टीम रोहित को सीधा फाइनल का टिकट हासिल करना है, तो उसे ऑस्ट्रेलिया को 4-0 से हराना होगा. वास्तव में 3-0 या 3-1 से भी भारत का काम बन सकता है. और अगर भारत 3-0 से जीतनें में नाकाम भी रहता है, तो उसे श्रीलंका और न्यूजीलैंड की सीरीज पर निर्भर रहना होगा. और इसके तहत न्यूजीलैंड को एक टेस्ट जीतना होगा या ड्रॉ कराना होगा. इससे भारत की राह सुगम हो जाएगी.

वैसे भारत अगर हार भी जाता है, तो भी वह फाइनल के लिए क्वालीफाई कर सकता है, लेकिन समस्या यह है कि इस सूरत में श्रीलंका और न्यूजीलैंड, न्यूजीलैंड बनाम वेस्टइंडीज और वेस्टइंडीज बनाम दक्षिण अफ्रीका की सीरीजों के परिणामों पर उसे निर्भर रहना होगा. लेकिन आप समझ सकते हैं कि इस सूरत में गणित कितना जटिल हो गया है. आप इसे ऐसे समझें कि अगर भारत कंगारुओं से 1-2 से सीरीज हारता है, तो विंडीज को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ या तो जीतना होगा या ड्रॉ खेलना होगा. साथ ही, न्यूजीलैंड को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक टेस्ट भी जीतना होगा. वैसे कीवियों का ड्रॉ खेलना भी भारत के फाइनल टिकट के लिए काफी हो सकता है. श्रीलंका और न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज मार्च 9 से खेली जाएगी, जबकि विंडीज का दक्षिण अफ्रीका दौरा फरवरी 28 से शुरू होगा. इन ड्रॉ मुकाबलों के साथ पाकिस्तान 64 अंकों के साथ प्वाइंट्स टेबल में सातवें नंबर पर बना हुआ है. और उसका प्रतिशत 38.1 है, जबकि न्यूजीलैंड 36 प्वाइंट्स के साथ आठवें नंबर पर हैं, तो उनकी जीत का प्रतिशत 27.27 है. इसी वजह से इस बार अपना विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब नहीं बचा पाएगी. इस टेबल में बांग्लादेश भारत के हाथों 0-2 से हारने के बाद पायदान में सबसे नीचे है और उसका जीत प्रतिशत 11.11 है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page