सेमीफाइनल से पहले भारत को मिली बड़ी खुशखबरी, सूर्यकुमार-अशर्दीप ने रचा इतिहास, कोहली को झटका

Advertisement
4

ऑस्ट्रेलिया में खेले जा रहे टी20 विश्वकप का दूसरा सेमीफाइनल मुकाबला आज (10 नवम्बर) को भारत और इंग्लैंड के बीच खेला जायेगा. एडिलेड में होने वाले इस मुकाबले को जो भी टीम जीतेगी, 12 नवम्बर को उसका सामना खिताब के लिए पाकिस्तान से होगा.

Advertisement

इससे पहले भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है. दमदार फॉर्म में चल रहे सूर्यकुमार ने आईसीसी रैंकिंग में अपना जलवा बरकरार रखा है. इसके अर्शदीप ने भी अपनी धाक जमाई है. हांलकी, विराट कोहली और केएल राहुल को तगड़ा नुकसान उठाना पड़ा है.

Advertisement

आईसीसी द्वारा जारी ताजा टी20 रैंकिंग में सूर्यकुमार यादव का दबबा देखने को मिला है. आईसीसी ने उन्हें शीर्ष स्थान पर बरकरार रखा है. वो पिछली बार भी टॉप पर थे. उन्होंने यह स्थान पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान को पछाड़ कर हासिल किया था.

सूर्यकुमार यादव ने टी20 विश्व कप में अब तक पांच मैचों में 200 के करीब स्ट्राइक रेट से 225 रन बनाए हैं. वह करियर के सर्वश्रेष्ठ 869 रेटिंग अंकों के साथ स्थान पर बने हुए हैं. न्यूजीलैंड के डेवोन कॉनवे उनके बाद दूसरे स्थान पर हैं, जबकि पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम चौथे स्थान पर हैं.

Advertisement

टी20 विश्व में विराट कोहली के बल्ले से जमकर रन निकल रहे हैं. उन्होंने पांच मैचों में 123.00 की औसत से 246 रन बना लिए हैं. इस बीच वह तीन अर्धशतक लगा चुके हैं. उसके बावजूद भी उन्हें टी20 रैंकिंग नें बड़ा नुकासान हुआ है. कोहली बल्लेबाजों की टॉप-10 रैंकिंग से बाहर हो गए हैं. विराट कोहली 11वें पर खिसक गए हैं. जबकि भारतीय उपकप्तान केएल राहुल पांच स्थान के नुकसान के साथ 18वें पायदान पर खिसक गए हैं.

भारतीय बल्लेबाजों के साथ-साथ गेंदबाजों का भी दबदबा देखने को मिल रहा है. वहीं टी20 विश्व कप में अपनी छाप छोड़ने वाले अर्शदीप को भी टी20 रैंकिंग में फायदा हुआ है. अर्शदीप सिंह अपने कैरियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर पहुंचे हैं. वह 23वें पायदान पर पहुंच गए हैं. वहीं पाकिस्तान ते तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी 24वें स्थान पर है जबकि स्पिन गेंदबाजी की बात करें तो रविचंद्रन अश्विन 13वें स्थान पर खिसक गए हैं.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page