मैन ऑफ द सीरीज़ देने में हुई बड़ी गलती, कोहली नहीं बल्कि ये खिलाड़ी था हकदार, गंभीर ने कही बड़ी बात

टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर का मानना है कि श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को विराट कोहली के साथ ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना जाना चाहिए था. भारत ने रविवार को श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और अंतिम वनडे मैच में 317 रन की शानदार जीत दर्ज की, जिसमें सिराज ने चार विकेट लेकर 3-0 से सीरीज जीत पूरी की.

मोहम्मद सिराज ने गुवाहाटी में पहले वनडे में दो और कोलकाता में अगले मैच में तीन विकेट झटके थे. गौतम गंभीर ने कहा, ‘मोहम्मद सिराज विराट कोहली के बराबर थे. एक संयुक्त ‘मैन ऑफ द सीरीज’ होना चाहिए था. वह असाधारण गेंदबाज थे और उचित बल्लेबाजी पिचों पर उन्होंने बेहतरीन गेंदबाजी की. मुझे पता है कि आप हमेशा बल्लेबाजों को मैन ऑफ द सीरीज पुरस्कार देने के लिए जाते हैं, लेकिन सिराज बिल्कुल असाधारण थे हर मैच में वह बेहतर कर रहे थे.’

गौतम गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा, ‘मोहम्मद सिराज भविष्य के खिलाड़ी हैं और हर सीरीज के बाद मोहम्मद सिराज बेहतर होते जा रहे हैं.’ दूसरी ओर, कोहली ने आखिरी वनडे मैच में एक शानदार प्रदर्शन किया, क्योंकि उन्होंने 110 गेंदों पर नाबाद 166 रन बनाए, उनका 46वां वनडे शतक और घर में वनडे मैचों में 21वां, उन्हें सचिन तेंदुलकर के 20 के आंकड़े से आगे ले गया. विराट कोहली ने दो शतकों सहित 141.50 का औसत और टॉप रन-स्कोरर के रूप में सीरीज समाप्त करने के लिए 283 रन बनाए.

बता दें कि शानदार फॉर्म में चल रहे विराट कोहली और सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल के शतक के बाद मोहम्मद सिराज के करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी से भारत ने तीसरे और अंतिम वनडे मैच में श्रीलंका को 317 रनों से रौंदकर इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज की और साथ ही तीन मैच की सीरीज में 3-0 से क्लीनस्वीप किया. वनडे क्रिकेट में इससे पहले रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाम था, जिसने 2008 में आयरलैंड को 290 रनों से हराया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page