24 छक्के-66 चौके व 686 रन, रोहित की एक चाल से जीता भारत, मैच में टूटे 20 रिकॉर्ड, गिल-सिराज-ब्रैसवेल ने रचा इतिहास

हैदराबाद में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को 12 रन से शिकस्त देते हुए पहला वनडे अपने नाम कर लिया है. हैदराबाद में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम निर्धारित ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 349 रन बनाने में कामयाब हुई थी.

वहीं लक्ष्य का पीछा करते हुए कीवी टीम 49.2 ओवर में 337 रन पर आल आउट हो गई. इस प्रकार भारतीय टीम को पहले वनडे में 12 रन से रोमांचक जीत हासिल हुई. न्यूजीलैंड की टीम को आखिरी ओवर में जीत के लिए 20 रन की जरूरत थी. हालांकि ब्रेसवेल ठाकुर की गेंद पर पगबाधा आउट हो गये.

ब्रेसवेल ने 78 गेंद में 12 चौकों और 10 छक्कों की मदद से 140 रन बनाए. हालांकि शार्दुल ने आखिरी ओवर में ब्रेसवेल को आउट कर दिया. भारत ने तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. भारत की जीत के हीरो शुभमन गिल और सिराज रहे. गिल ने दोहरा शतक लगाया जबकि सिराज ने चार विकेट लेकर भारत को मैच में बनाए रखा.

माइकल ब्रैसवेल और मिचेल सैंटनर ने पारी को संभाला. दोनों ने सातवें विकेट के लिए 102 गेंद पर 162 रनों की साझेदारी की. सैंटनर 45 गेंद पर 57 रन बनाकर आउट हुए. आखिरी ओवर में न्यूजीलैंड को जीत के लिए 20 रन बनाने थे. ब्रैसवेल ने शार्दुल ठाकुर की पहली गेंद पर छक्का लगाया दिया.

शार्दुल ने फिर एक वाइड फेंकी. उसके बाद अगली गेंद पर उन्होंने ब्रैसवेल को एलबीडब्ल्यू कर दिया और टीम इंडिया जीत गई. ब्रैसवेल ने 78 गेंद पर 140 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में 12 चौके और 10 छक्के लगाए. आखिरी ओवर में गिल को जबकि अहम् मौके पर रोहित द्वारा सिराज को लाना कारगर साबित हुआ.

सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल ने डबल सेंचुरी लगाकर कई सारे रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए. उन्होने 149 गेंदों पर 208 रन बनाए. गिल ने 146 गेंदों पर अपना दोहरा शतक पूरा किया. गिल ने अपनी पारी में 149 गेंदों का सामना करते हुए 208 रन बनाए. जिसमें उन्होने 19 चौके और 9 छक्के लगाए.

शुभमन गिल सबसे कम उम्र में दोहरा शतक बनाने वाले बैटर बन गए हैं. उन्होने 23 साल 132 दिन में यह मुकाम हासिल किया. इससे पहले ईशान किशन ने 24 साल 145 दिन में यह उपलब्धि हासिल की थी.

शुभमन गिल वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाले विश्व के 8वे बैटर बन गए हैं. इसके अलावा वह भारत के पांचवे बैटर हैं जिन्होने शतक बनाया है.

गिल ने वनडे में सबसे बड़े व्यक्तिगत स्कोर के मामले में सचिन तेंदुलकर (200*) को पीछे छोड़ दिया.

शुभमन गिल (Shubhman Gill Double Century) ने अपने करियर की 19वीं पारी में यह दोहरा शतक जड़ा. भारत के पहले दिग्गज सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और रोहित शर्मा ने भी शतक बनाया था लेकिन इतनी जल्दी किसी से बल्ले से इतनी बड़ी पारी नहीं आई थी.

तूफानी शतक ठोक शुभमन गिल ने रचा इतिहास, टूटा 49 साल का महारिकॉर्ड, कोहली-बाबर को भी पीछे छोड़ा

शुभमन गिल ने सबसे तेज एक हजार रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया. उन्होने इस मामले में विराट कोहली और शिखर धवन को पीछे छोड़ दिया. उन्होने पारी में 106वां बनाते ही यह उपलब्धि हासिल की.

शुभमन गिल इस साल वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बैटर बन गए हैं. उन्होने 4 पारीयों में 415 रन बनाए हैं. इस मामले में कोहली (291) और रिज़वान (182) उनसे पीछे रह गए हैं.

666666666… Shubhman Gill ने ठोका दोहरा शतक, तोड़ा सचिन-रोहित का महारिकॉर्ड, बने दुनिया में नम्बर एक

शुभमन गिल इस साल सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले बैटर बन गए हैं. वह 4 पारीयों में दो शतक बना चुके हैं.

शुभमन गिल दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं जिन्होने इस साल वनडे में 50 से अधिक बांउ़ड्री लगाई हैं. वह 49 चौके और 11 छक्के जड़ चुके हैं. दूसरे स्थान पर 27 चौको और 9 छक्कों के साथ कोहली हैं.

Highest individual score batting #7 or below in ODIs
170* Luke Ronchi vs SL Dunedin 2015
146* Marcus Stoinis vs NZ Auckland 2017
140 Thisara Perera vs NZ Mt Maunganui 2019
140 Michael Bracewell vs Ind Hyderabad 2023

टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के विरुद्ध अपना सबसे बड़ा वनडे स्कोर बनाया.

कप्तान रोहित शर्मा ने पूर्व कप्तान एमएस धोनी का एक बड़ा रिकॉर्ड तोड़ दिया है. रोहित अब भारत में वनडे मैचों में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं और धोनी दूसरे स्थान पर खिसक गए हैं. एमएस धोनी ने 350 मुकाबले खेलते हुए 229 छक्के लगाए थे और इनमें से 130 मैच, उन्होंने भारतीय सरजमीं में खेले थे और 123 छक्के जड़े थे.

Back to Back ODI 100s for India at 23 age Rohit Sharma (vs ZIM, SL) Virat Kohli (vs AUS, NZ) Virat Kohli (vs SL, SL) Virat Kohli (vs PAK, SL) Shubman Gill (vs SL, NZ)*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page