12 छक्के 31चौके, 43 गेंद पर 190 रन, गिल ने ठोका हाहाकारी दोहरा शतक, टूटे 10 महारिकॉर्ड, बदला 50 साल का इतिहास

भारत और न्यूजीलैंड के बीच वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में ही शुभमन गिल ने इतिहास रच दिया। उन्होंने 149 गेंदों में 208 रन की पारी खेली। उनकी पारी में 19 चौके और नौ छक्के शामिल थे। इस मैच में गिल ने एक साथ कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। गिल वनडे में सबसे कम उम्र में दोहरा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं।

शुभमन गिल ने वनडे क्रिकेट में 1000 रन बनाने का कीर्तिमान सबसे तेज अपने नाम किया है। शुभमन गिल से पहले यह रिकॉर्ड विराट कोहली और शिखर धवन के नाम सयुंक्त रूप से था।

वनडे करियर में सबसे तेज 1000 रन बनाने की लिस्ट में शुभमन गिल तीसरे नंबर पर आ गए हैं। शुभमन गिल ने यह उपलब्धि 19 पारियों में हासिल कर ली है जबकि पहले स्थान पर पाकिस्तान के फखर जमान मौजूद है और दूसरे पर इमाम उल हक़ काबिज है।

गिल ने 145 गेंद में दोहरा शतक ठोककर महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ दिया है। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने वनडे का पहला दोहरा शतक मात्र 147 गेंदों में बनाया था| सबसे तेज दोहरा शतक जड़ने के मामले में सचिन को गिल ने पीछे छोड़ दिया है|

कप्तान रोहित शर्मा ने पूर्व कप्तान एमएस धोनी का एक बड़ा रिकॉर्ड तोड़ दिया है। रोहित अब भारत में वनडे मैचों में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं और धोनी दूसरे स्थान पर खिसक गए हैं। एमएस धोनी ने 350 मुकाबले खेलते हुए 229 छक्के लगाए थे और इनमें से 130 मैच, उन्होंने भारतीय सरजमीं में खेले थे और 123 छक्के जड़े थे।

शुभमन गिल वनडे में दोहरा शतक ठोकने वाले सबसे युवा खिलाड़ी हैं। इस खिलाड़ी ने 23 साल, 132 दिन की उम्र में इस कारनामे को अंजाम दिया। इशान किशन ने पिछवे साल बांग्लादेश के खिलाफ दोहरा शतक ठोका था। उस वक्त किशन की उम्र 24 साल, 145 दिन थी। रोहित शर्मा ने 26 साल, 186 दिन की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डबल सेंचुरी लगाई थी।

शुभमन गिल न्यूजीलैंड के खिलाफ दोहरा शतक ठोकने वाले पहले बल्लेबाज हैं। इससे पहले सचिन तेंदुलकर ने साल 1999 में 186 रनों की पारी खेली थी। गिल इस मामले में भी सचिन से आगे निकल गये।

शुभमन वनडे क्रिकेट में इस वर्ष दोहरा शतक लगाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज बने।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page