हैदराबाद क्रिकेट संघ पर भड़के मोहम्मद अजहरुद्दीन, अध्यक्ष पद से हटाये जाने पर सुनाई खरी-खोटी, बोले- मैं टी 20 टूर्नामेंट…

Advertisement
4

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन का विवादों से पुराना नाता रहा है.

Advertisement

भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक अजहरुद्दीन को हाल ही में हैदराबाद क्रिकेट संघ (Hyderabad Cricket Association) के अध्यक्ष पद से हटाए जाने की खबरें सामने आई थीं. संघ की शीर्ष परिषद ने उन्हें हाल ही में नोटिस भेजा है जिसमें इस बात का साफ जिक्र है कि उन्हें अपने पद से स,स्पेंड किया गया है.

Advertisement

उन्हें तब तक अपने पद से स’स्पेंड कर दिया गया है जब तक उनके खिलाफ जांच पूरी नहीं होती. इसी के साथ उनकी एचसीए की मेंबरशिप भी रद्द कर दी गई है. अब इसे लेकर अजहरुद्दीन ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने कहा है कि वह अभी भी अपने पद पर बरकरार है और उनके पास नियंत्रण है.

अजहर ने अपने खिलाफ उठाए कदम को गै,रका,नू,नी बताया है और कहा है कि चार या पांच लोग उन्हें बाहर नहीं कर सकते. दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने अपनी तरफ से बयान जारी किया है. उन्होंने बयान में कहा है कि मैं आपसे कुछ कहना चाहता हूं मैं चुना हुआ सदस्य हूं चार या पांच लोग मुझे अध्यक्ष पद से हटा नहीं सकते.

Advertisement

पूर्व कप्तान ने कहा है कि यह नियमों के विरुद्ध है. उन्होंने कहा जब उन पर ही आरोप हैं तो वह लोग मुझ पर आरोप कैसे लगा सकते हैं? वह रोज को’र्ट जाते हैं मैं नहीं. मैं किसी तरह के गलत काम नहीं करता वह लोग करते हैं. जैसे वो कहते हैं खाली बरतन ज्यादा आवाज करता है यह कहानी उन लोगों के साथ है.

मैंने संघ के लिए अच्छा काम किया इसलिए वो मुझ पर आरोप लगा रहे हैं. मैं किसी तरह की कोई गै,र,का,नू,नी चीज नहीं करना चाहता. मैं क्रिकेट के लिए सिर्फ अच्छा करना चाहता हूं. अजहर ने कहा है कि उन्हें ब’लि का ब’क’रा बनाया जा रहा है क्योंकि वह एचसीए के लिए कुछ अच्छी चीजें प्लान कर रहे थे.

अजहर एक टी20 टूर्नामेंट शुरू करने वाले थे. अजहर ने कहा कि संघ इससे खुश नहीं है. उन्होंने कहा मैं 200 से ज्यादा क्लबों के साथ मिलकर एक टी20 टूर्नामेंट शुरू करने वाला था. उस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले आने वाले दिनों में भारत के लिए भी खेल सकते हैं. वो लोग सिर्फ क्लब में रुचि रखते हैं न कि क्रिकेट में.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page