जुबैर हमजा ने दूसरे वनडे में खेली ताबड़तोड़ पारी, कप्तानी में अफ्रीका को जिताई सीरीज, ये धुरंधर दोहरे शतक से चूका,

Advertisement

दूसरे वनडे में पहले बैटिंग करते हुए दक्षिण अफ्रीका ए को जोरदार शुरुआत मिली.

जानेमन मलान और रयान रिकेल्टन ने मिलकर पहले विकेट के लिए 20 ओवर में 120 रन जोड़े. मलान छह चौकों की मदद से 53 रन बनाने के बाद पहले विकेट के रूप में आउट हुए. फिर रेजा हेंड्रिक्स ने रिकेल्टन का बढ़िया साथ दिया और दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 137 रन की साझेदारी की.

Advertisement
Advertisement

हेंड्रिक्स भी फिफ्टी लगाने के बाद आउट हो गए और उन्होंने 51 रन की पार्टनरशिप में चार चौके और तीन छक्के लगाए. इस दौरान रिकेल्टन ने भी अपना शतक पूरा किया मगर फिर दक्षिण अफ्रीकी टीम का मिडिल ऑर्डर बिखर गया. पिछले मैच के शतकवीर थिनिस डी ब्रूइन (17), ड्वेन प्रीटोरियस (9), सिसांडा मागला (6) रन बनाकर आउट हो गए.

हालांकि दूसरे छोर से रिकेल्टन ने मोर्चा थामे रखा और टीम को 300 के पार पहुंचाया. वे 15 चौकों और तीन छक्कों से 169 रन की पारी खेलने के बाद पांचवें विकेट के रूप में आउट हुए. आखिरी ओवरों में कप्तान जुबैर हम्जा ने 17 गेंद में तीन चौकों व एक छक्केकी मदद से 200 से अधिक के स्ट्राइक रेट से नाबाद 37 रन बनाये और टीम को 365 रन तक पहुंचाया.

Advertisement

जिम्बाब्वे की ओर से कप्तान तेंडई चटारा और ल्यूक जोंगवे को दो-दो विकेट मिले. रिकेल्टन ने 150 गेंदों का सामना करते हुए 15 चौके और तीन छक्के लगाए. लक्ष्य का पीछा करते हुए जिम्बाब्वे ए टीम बड़े स्कोर के दबाव में बिखर गई और 181 रन पर सिमट गई. जिम्बाब्वे टीम की शुरुआत खराब रही और पारी की पहली ही गेंद पर चामू चिभाभा को ग्लेंटन स्टुरमैन ने आउट कर दिया. इसके बाद भी लगातार विकेट गिरते रहे.

पहले ओपनर ताडिवान्शे मरुमानी ने सात चौकों और एक छक्के से 48 रन बनाए. फिर डियोन मायर्स ने फॉर्म को बरकरार रखते हुए 63 गेंद में छह चौकों और दो छक्कों से 70 रन की पारी खेली. इन दोनों के अलावा कोई और बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाया. एक्स्ट्रा में 21 रन मिले और इस तरह 35.3 ओवर में पूरी पारी सिमट गई. सेनुरन मुथुसामी ने 37 रन देकर सबसे ज्यादा चार विकेट लिए दक्षिण अफ्रीका ए के बाकी गेंदबाजों को भी विकेट मिले.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *