चयनकताओं की नाइंसाफी की वजह से बर्बाद हुआ इन 5 क्रिकेटर का करियर, नंबर 1 ने बनाये 12000 रन

Advertisement

हर खिलाड़ी के क्रिकेट करियर का सबसे बड़ा लक्ष्य होता है कि वो अपने देश की राष्ट्रीय टीम के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना.

क्रिकेट की तारीख में अभी तक कई ऐसे शानदार टेस्ट क्रिकेटर्स हुए हैं जिन्होंने अपने खेल से पूरी दुनिया को प्रभावित किया है. भारतीय क्रिकेट के नज़रिए से बात करें तो कई दिग्गजों ने भारतीय टीम के लिए काफ़ी शानदार योगदान दिया है. लेकिन मौजूदा समय में कई युवा क्रिकेटर ऐसे भी हैं जिन्हें टीम से नज़रअंदाज़ किया गया. इसी सिलसिले में इस आर्टिकल में हम बात करेंगे उन 5 क्रिकेटर्स के बारे में जिनका समय पर भारतीय टीम में चयन न कर चयनकर्ताओं ने पूरा करियर लगभग बर्बाद कर दिया.

Advertisement
Advertisement

1- फैज फजल
महाराष्ट्र के 35 वर्षीय सीनियर बल्लेबाज़ फ़ैज़ फज़ल ने विदर्भ की टीम के लिए अपने घरेलू क्रिकेट करियर की शुरुआत 2003 में ही कर दी थी. तब से अब तक उन्होंने घरेलू क्रिकेट में कुल 125 फ़र्स्ट-क्लास मैच, 100 लिस्ट-ए और 66 टी20 मैच खेले हैं.

इन मैचों में शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए फ़ैज़ ने 41.39 के बल्लेबाज़ी औसत से 8404 फ़र्स्ट-क्लास रन, 35.23 के बल्लेबाज़ी औसत से 3242 लिस्ट-ए रन और 1273 घरेलू टी20 रन बनाए हैं. घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के बावजूद 18 साल से फ़ैज़ केवल घरेलू क्रिकेट ही खेल रहे हैं. भारतीय टीम के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन्हें केवल एक ही वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका मिला है.

Advertisement

2- जलज सक्सेना
जलज सक्सेना ने 35.98 के बल्लेबाज़ी औसत से बल्लेबाज़ी करते हुए 6334 रन बनाए हैं. इस दौरान उनके बल्ले से 14 शतक और 31 अर्धशतक निकले हैं. लेकिन इसके बावजूद अभी तक 16 साल का घरेलू क्रिकेट का अनुभव होने के बाद भी उनको राष्ट्रीय टीम में मौका नहीं दिया गया है.

3- ऋषि धवन
हिमाचल प्रदेश के लिए अपने घरेलू क्रिकेट करियर की शुरुआत 2007 में की थी और तब से अब तक वो कुल 79 फर्स्ट-क्लास मैच, 101 लिस्ट-ए और 95 घरेलू टी20 मैच खेल चुके हैं. इसके अलावा भारतीय टीम के लिए उन्होंने 2016 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी.

ये 5 खिलाड़ी भारतीय टीम में आंधी की तरह आए और तूफान की तरह चले गए, जानिए अभी - Sabkuch Gyan | DailyHuntघरेलू क्रिकेट में ऋषि ने 79 फ़र्स्ट-क्लास मैचों में 41.13 के औसत से 3702 रन, 101 लिस्ट-ए मैचों में 35.03 के औसत से 1927 रन और घरेलू टी20 मैचों में 31.85 के बल्लेबाज़ी औसत से 1306 रन बनाए हैं. इसके अलावा गेंदबाज़ी में भी उन्होंने 308 फ़र्स्ट-क्लास विकेट, 141 लिस्ट-ए विकेट और 73 घरेलू टी20 विकेट चटकाए हैं.

4- प्रियांक पांचाल
अहमदाबाद के 31 वर्षीय सीनियर बल्लेबाज़ प्रियांक पांचाल ने गुजरात के लिए अपने घरेलू क्रिकेट करियर की शुरुआत 2014 में की थी. अपने 7 साल के घरेलू क्रिकेट करियर में प्रियांक अभी तक 98 फ़र्स्ट-क्लास मैच, 75 लिस्ट-ए मैच और 45 घरेलू टी20 मैच खेल चुके हैं.

इन मैचों में उन्होंने 45.63 के बल्लेबाज़ी औसत से 6891 फ़र्स्ट-क्लास रन, 40.19 के बल्लेबाज़ी औसत से 2854 लिस्ट-ए रन और 27.75 के बल्लेबाज़ी औसत से 1139 रन बनाए हैं. लेकिन इसके बावजूद अभी तक भी उन्हें चयनकर्ताओं ने भारतीय टीम के लिए अंतरराष्ट्रीय डेब्यू करने का मौका नहीं दिया है.

5- परवेज रसूल
जम्मू-कश्मीर के लिए अपने घरेलू क्रिकेट करियर की शुरुआत 2008 में कर दी थी. उसके बाद से अब तक वो कुल 82 फ़र्स्ट-क्लास मैच, 123 लिस्ट-ए मैच और 61 टी20 मैच खेल चुके हैं. इसके अलावा भारतीय टीम के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट केवल 1 वनडे मैच और ऍ टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका मिला है.

घरेलू क्रिकेट में रसूल ने गेंद और बल्ले दोनों से बेहतरीन क्रिकेट डिलीवर की है. इस दौरान उन्होंने 266 फ़र्स्ट-क्लास विकेट और 4807 फ़र्स्ट-क्लास रन, 137 लिस्ट-ए विकेट और 3086 लिस्ट-ए रन के अलावा 50 घरेलू टी20 विकेट और 726 घरेलू टी20 रन बनाए हैं. इतने बेहतरीन ऑलराउंड प्रदर्शन के बावजूद परवेज़ रसूल को अभी तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वो पहचान नहीं मिल पाई है जिसके वो सही मायनों में हक़दार हैं.
(साभार-sportzwiki hindi)

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *