क्रिकेटर बाप-बेटों की 6 ऐसी जोड़ियां, पापा ने क्रिकेट में नाम कमाया तो बेटों ने डुबोया, कई भारतीय क्रिकेटर

Advertisement

क्रिकेट दुनिया का सबसे ज्यादा पसंद किये जाना वाला खेल है. इस खेल के चाहने वाले विश्व के पत्येक कोने में बसे हुए हैं. क्रिकेट जगतं में कई खिलाड़ी ऐसे हैं जिनके पिता या बेटे ने भी क्रिकेट में जौहर दिखाए हैं . आज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसी जोड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनमे पिता हिट हुए तो बेटा हुआ फ्लॉप.आइए जाने-

रोजर बिन्नी और स्टुअर्ट बिन्नी
भारत की तरफ से 27 टेस्ट और 72 वनडे मैच खेलने वाले पूर्व भारतीय ऑलराउंडर रोजर बिन्नी ने 1983 वर्ल्ड कप में अपनी दमदार परफॉर्मेंस से सभी का दिल जीत लिया था। 1983 वर्ल्ड कप में रोजर बिन्नी ने सबसे अधिक विकेट अपने नाम किया था। जबकि इनका बेटा स्टुअर्ट बिन्नी ने अपने करियर में 6 टेस्ट, 14 वनडे और 3 टी-20 मैच खेले हैं और अभी भी उनकी बेस्ट पारी का सभी को इंतजार है।

Advertisement
Advertisement

सुनील गावस्कर और रोहन गावस्कर
सुनील गावस्कर भारत के पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी और कप्तान हैं। वो टेस्ट क्रिकेट में 10 हजार रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे। लेकिन उनके बेटे रोहन गावस्कर उनकी तरह नाम नहीं कमा पाए।रोहन ने अपने वनडे करियर की शुरुआत 2003-04 में की। लेकिन वो ज्यादा दिनों तक टीम के लिए नहीं खेल पाए। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में 0 टेस्ट और 11 वनडे मैच खेले हैं।

कृष श्रीकांत और अनिरुद्ध श्रीकांत
भारत के लिए कृष श्रीकांत ने अपने क्रिकेट करियर में कई मैच जिताऊ पारियां खेली हैं। 1983 विश्व कप के फाइनल में वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रीकांत ने 38 रनों शानदार पारी खेली थी। श्रीकांत ने अपने करियर में 43 टेस्ट और 146 वनडे मैच खेल चुके हैं। वहीं उनका बेटा अनिरुद्ध श्रीकांत अभी तक कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके हैं। भारतीय ए टीम में उनके चयन को लेकर कई बार सवाल भी उठते रहे हैं।

Advertisement

हनीफ मोहम्मद और शोएब मोहम्मद
पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज हनीफ मोहम्मद ने अपने करियर में 55 टेस्ट मैच खेला। जिसमें 43.98 की शानदार एवरेज से उन्होंने 3915 बनाए। वहीं उनके बेटे शोएब मोहम्मद ने 45 टेस्ट मैच में 2705 रन बनाए। हनीफ मोहम्मद कुछ समय से कैंसर से लड़ रहे थे। लेकिन पिछले साल उनकी कराची के एक अस्पताल में मौ’त हो गई।

सर विव रिचर्ड्स और सर विव रिचर्ड्स
सबसे पहले साल 1980 में विवियन रिचर्ड्स ने इंग्लैंड के खिलाफ मैच में सबसे तेज 1000 रन बनाए थे। रिचर्ड्स आक्रमक अंदाज में बल्लेबाजी करने के लिए जाने जाते थे। रिचर्ड्स ने 121 टेस्ट मैच में 8540 और 187 वनडे में 6721 रन बनाए हैं। वहीं उनका बेटा माली रिचर्ड्स इंटरनैशनल टीम में जगह बनाने में अभी तक असफल ही रहे हैं।

ज्योफ मार्श और शॉन मार्श
पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ज्योफ मार्श अपनी दमदार बल्लेबाजी से विरोधी टीम के गेंदबाजों को हमेशा दबा के रखते थे। उन्होंने अपने करियर में 50 टेस्ट और 117 वनडे मैच खेले हैं। जिनमें उनकी बल्लेबाजी का औसत शानदार रहा। वहीं उनके बेटे शॉन मार्श ऑस्ट्रेलिया की तरफ से ज्यादा खेलते नजर नहीं आए हैं। लेकिन आईपीएल में उन्होंने अच्छा नाम कमाया है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *